0

राखी के हर धागे में बंधा हैं भाई बहन का प्यार – हैप्पी रक्षा बंधन

भाई और बहन के प्यार को समर्पित हैं रक्षा बंधन

raksha bandhan

रक्षा बंधन दुनिया के हर भाई और बहन के पवित्र रिश्ते को समर्पित हैं।  भाई बहन का रिश्ता ऐसा हैं, जिसमे प्यार, ज़िम्मेदारी, अपनापन, शरारत, दोस्ती, देखभाल और रक्षा सुरक्षा का रंग हैं।  रक्षा बंधन के दिन बहन अपने भाई या अपने माने हुए भाई के कलाई पर, राखी बांधकर उसके सुरक्षा की कामना करती हैं।

राखी बाँधने का शुभ मुहूर्त

आप सभी भाई और बहनों की रक्षा बंधन का ये पवित्र त्यौहार मुबारक हो।  इस रविवार, दिनांक २६ अगस्त २०१८ को रक्षा बंधन का पवित्र त्यौहार मनाया जायेगा।  भद्र काल के दौरान राखी बांधना अशुभ माना जाता है।  यहाँ पर हम आपको राखी बांधने का शुभ मुहूर्त बता रहे हैं।  

राखी बांधने का शुभ समय: सुबह 5 बजकर 59 मिनट से शाम 5 बजकर 25 मिनट तक (26 अगस्‍त 2018, रविवार )

अपराह्न मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 39 मिनट से शाम 4 बजकर 12 मिनट तक (26 अगस्‍त 2018, रविवार )

हम राखी क्यों मानते हैं ?

भारत में रक्षा बंधन पौराणिक कल से ही मनाया जाता हैं।  इसे मनाने के पीछे कई कहानियों का ज़िक्र हैं, सभी पौराणिक कहानियों में बहनो ने अपने भाई की रक्षा के लिए उनकी कलाई में रक्षा सूत्र बाँधा हैं। महाभारत काल में श्री कृष्णा और द्रौपदी की एक कहानी का वृतांत हैं।  

draupadi aur Krishna rakhi

जब श्री कृष्ण ने सुदर्शन चक्र से शिशुपाल का वध किया तो, उनके तर्जनी अंगुली में चोट आ गई थी।  उस समय द्रौपदी ने अपनी साडी फाड़कर, उनकी अंगुली को पट्टी से बाँध दिया था।  यह श्रवण मॉस के पूर्णिमा का दिन था। बाद में श्री कृष्ण ने, द्रौपदी के चीर हरण के समय उनकी लाज बचाकर, भाई का धर्म निभाया था।  

तब से ही रक्षा बंधन का ये पवित्र त्यौहार मनाया जाता हैं।  जहाँ भाई और बहन एक दूसरे के प्रति प्यार, ज़िम्मेदारी और सुरक्षा का ज़िम्मा उठाते हैं।    

राखी बांधने की सही विधि

रक्षा बंधन के दिन, बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं, उसके लम्बी उम्र और सफलता की कामना करती हैं।  वही भाई अपने बहन की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी लेता हैं और उसे कोई गिफ्ट या तोहफ़ा भेंट करता हैं।

राखी का तोहफा कुछ भी हो सकता हैं, अपने सामर्थ्य और बहन की पसंद के अनुसार ये हर किसी के लिए कुछ भी हो सकता हैं।  पूजा की थाली में शगुन के तौर पर रूपए और सिक्का रखने का प्रचलन हैं।

Rakhi ki Thali

 

सबसे पहले राखी की थाली को अच्छी तरह से सजा ले।  राखी की थाली में – राखी, मिठाई, चन्दन, रोली, कुमकुम, चावल, सरसो का बींज, अक्षत, फूल, और दीपक होना चाहिए।  

बहन अपने भाई के माथे पर टिका लगाकर, उनके दाहिने हाथ में रक्षा सूत्र यानि राखी बांधे। फिर अपने भाई की आरती उतारते हुए मिठाई खिलाये।  अगर भाई बड़ा हैं तो बहन को उनका चरण स्पर्श करें, अगर भाई छोटा है तो उनको आशीर्वाद और गिफ्ट दे सकती हैं।

आज दुनिया की हर बहन को श्री कृष्णा जैसे भाई की ज़रूरत हैं, जो उनके अस्मित की रक्षा कर सके।  कामयाब ज़िंदगी की तरफ से भाई बहन के प्यार को समर्पित ये रक्षा बंधन का त्यौहार आप सभी को मुबारक हो।  धन्यवाद !

 

Did you enjoy this article?
Signup today and receive free updates straight in your inbox. We will never share or sell your email address.
I agree to have my personal information transfered to MailChimp ( more information )

Shyam Shah

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *