0

वीडियो गेम जो कर रहे हैं लोगो का गेम ओवर

पबजी खेलना मतलब ज़िन्दगी बर्बाद करना  क्या आपने अपने आस पास ऐसे लोगो को देखा है जो लोग पबजी जैसे गेम्स खेलते हैं? पबजी एक ऐसा खतरनाक और जानलेवा गेम है जिससे आपको सतर्क रहना चाहिए।  क्योंकि ये न सिर्फ… Continue Reading

0

क्यों अपने ही कर रहे हैं अपनों का कत्ल?

मज़बूरी, अन्धविश्वास या प्रतिशोध पिछले दिनों गोरखपुर में एक माँ ने अपनी 8 महीने की बच्ची की हत्या कर दी। कारन इतना था कि वो भूख से रो रही थी और माँ के पास कुछ नहीं था खिलाने के लिए।… Continue Reading

0

ना से नाकामयाबी और हाँ से हासिल, किसे चुनेंगे आप?

अपनी जीत और हार आप तय करते हैं हम अपने जीवन में ‘ना’ शब्द सुनने के इतने आदि हो जाते हैं, की ‘हाँ’ कहना या करना बड़ा मुश्किल लगने लगता है। जीवन का हर फैसला छोटा हो या बड़ा, उसकी… Continue Reading

0

आर्टिकल 15, समाज को आईना दिखाने वाली फिल्म

आर्टिकल 15 जैसी फिल्मों की ज़रूरत अनुभव सिन्हा द्वारा निर्देशित आर्टिकल 15 फिल्म का विरोध किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। इसका विरोध करने वाले समाज में कोई बदलाव लाना या दिखाना नहीं चाहते। संविधान, क़ानून और स्कूली किताबों में मात्र पढ़… Continue Reading

4

ईश्वर ज़िन्दगी देते हैं और डॉक्टर उसकी रक्षा करते हैं-हैप्पी डॉक्टर्स डे

ईश्वर का दूसरा अवतार है डॉक्टर ये सच हैं की ईशवर हमें ज़िन्दगी देते हैं,पर उस ज़िन्दगी की रक्षा सुरक्षा, देखभाल के लिए डॉक्टर हमारे साथ होते हैं। अगर डॉक्टर न होते, तो क्या हम ठीक तरह से जी पाते?… Continue Reading

2

स्वस्थ और खुशहाल जीवन का आधार हैं योग, 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

  स्वस्थ और खुशहाल जीवन का आधार है योग नरेन्द्र मोदी जी के शब्दों में – “योग इंसान की सोच, काम करने का तरीका, संयम बरतना, मनुष्य और प्रकृति के बीच सद्भाव सिखाता हैं। यह सिर्फ कसरत नहीं हैं, प्रकृति… Continue Reading

2

हम सभी बच्चों के रब हैं पिता – Happy Fathers Day

पिता उस रब के समान हैं, जो  बच्चों की पालना करते हैं  माँ बच्चें को जन्म देती हैं और पिता उस बच्चें की पालना करते हैं। माँ खाना बनाकर खिलाती हैं और पिता खाने का इंतजाम करते हैं। सच तो… Continue Reading

0

जल को बचाने और संचयन करने के आसान टिप्स। How to save and preserve water for future.

जल ही जीवन है आज पूरा विश्व जल संकट के कठिन दौर से गुज़र रहा है। ये समस्या हर साल और भी विकराल होती जा रही है। पीने के पानी का प्रतिशत जितना कम होता जा रहा है उतनी ही… Continue Reading